खेल समाचार

1200 किमी साइकिल चलाकर बिहार पहुंची ज्योती ने ट्रायल ऑफर ठुकराया

15 वर्षीय ज्योति कुमारी ने हाल ही में सुर्खियां बटोरी थीं जब वह अपने चोटिल पिता को हरियाणा से बिहार 1200 किलोमीटर का सफर तय करते हुए साइकिल पर ले गए थी। ज्योति के इस साहसी कार्य के लिए देशभर में लोगों ने उनकी प्रशंसा की।

ज्योती कि यह मेहनत बेकार नहीं गई क्योंकि साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने उन्हें ट्रायल के लिए दिल्ली बुलाया था। कक्षा आठ की छात्रा को बिहार के दरभंगा में उसके घर पहुंचने के बाद सीएफआई द्वारा संपर्क किया गया था और उसे नई दिल्ली में आईजीआई स्टेडियम परिसर में नेशनल साइक्लिंग अकादमी में ट्रायल का ऑफर दिया गया था।

हालांकि,ज्योति ने ट्रायल से इनकार कर दिया क्योंकि वह अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाना चाहती हैं और मैट्रिक पूरा करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहती हैं।

द हिंदू के हवाले से ज्योति ने कहा, “मैं पहले अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहती हूँ। मैं इतनी लंबी यात्रा करने के बाद शारीरिक रूप से कमजोर महसूस कर रही हूं।”

ज्योति के पिता गुरुग्राम में ऑटो चलाते थे लेकिन पैर में चोट लगने के कारण और उसके बाद देशव्यापी लॉकडाउन घोषित करने के बाद उन्हें यह काम छोड़ना पड़ा। उसके बाद बेटी और पिता की जोड़ी ने एक सेकेंड हैंड साइकिल ली और उसके बाद घर के लिए निकलने के फैसला किया।

ज्योति ने 7 दिन, गुरुग्राम से बिहार तक अपने पिता को साइकिल में पीछे बैठाकर लगातार साइकिल चलाई। ज्योति ने कहा कि वह हमेशा अपनी शिक्षा को जारी रखना चाहती थी लेकिन अपने परिवार की खराब आर्थिक स्थिती के कारण ऐसा नहीं कर पा रही थी। हालांकि, अब वह अधिक अध्ययन करना चाहती है और सीएफआई के ट्रायल के लिए नहीं जाना चाहती।

ज्योति ने कहा, “इससे पहले मैं अपने परिवार की समस्याओं के कारण अपनी स्कूली शिक्षा जारी नहीं रख सकी थी और घरेलू कामों में व्यस्त थी…लेकिन अब मैं पहले अपनी मैट्रिक पूरा करना चाहती हूं।”

इससे पहले, सीएफआई के अध्यक्ष ओंकार सिंह ने पुष्टि की थी कि महासंघ ने ज्योति से ट्रायल के लिए संपर्क किया था और दिल्ली की यात्रा के लिए उसके सभी खर्चों को वहन करने का वादा किया था। “हमने आज सुबह लड़की से बात की और हमने उसे बताया है कि जैसे ही लॉकडाउन उठाया जाएगा, उसे अगले महीने दिल्ली बुलाया जाएगा। सिंह ने कहा था कि उनकी यात्रा, ठहरने और अन्य खर्चों का सारा खर्च हमारे द्वारा वहन किया जाएगा।”

Tags
Show More

ankur patwal

Sports Journalist

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

If you like our content kindly support us by whitelisting us Adblocker.