क्रिकेटखेल समाचार
trending

पूर्व व्हीलचेयर क्रिकेट टीम के कप्तान, मजदूर के रूप में काम करने को मजबूर

पिथौरागढ़ (उत्तराखंड): कोरोनोवायरस महामारी ने उत्तराखंड और भारत की व्हीलचेयर क्रिकेट टीमों के पूर्व कप्तान को एक मजदूर के रूप में काम करने के लिए मजबूर कर दिया है। राजेंद्र सिंह धामी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) योजना के तहत एक मजदूर के रूप में काम कर रहे हैं। धामी ने बताया, “एक टूर्नामेंट निर्धारित था, लेकिन कोविड-19 के कारण स्थगित हो गया हैं। मैं सरकार से अपनी योग्यता के अनुसार नौकरी देने का अनुरोध करता हूं।”

धामी ने कहा, “मैंने कई ‘दिव्यांग’ लोगों को अपने जीवन के तनाव में आशा खोते हुए देखा है। मैं भी इस दौर में था और मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था , लेकिन मैंने एक बार भी हार नहीं मानी। मेरे प्रयास उन्हें जीवन का एक उद्देश्य देने पर केंद्रित हैं।”

जिला मजिस्ट्रेट डॉक्टर विजय कुमार जोगदंडे ने कहा कि अधिकारियों ने जिला खेल अधिकारी से कहा है कि वह जल्द से जल्द उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करें। वर्तमान में, उनकी आर्थिक स्थिति खराब प्रतीत हो रही है। हमने जिला खेल अधिकारी से कहा है कि वह उन्हें तत्काल सहायता के रूप में पैसा प्रदान करें। उन्हें मुख्मंत्री स्वरोजगार योजना या अन्य योजनाओं के तहत लाभ दिया जाएगा ताकि वह आजीविका कमाने में सक्षम हों।

कोरोना काल में निचले तबकों के खिलाड़ियों के लिए काफी समस्या सामने आई है और यह पहला मामला सामने नहीं है जहां देश का गौरव बढ़ाने वाले खिलाड़ी मजदूरी करने को मजबूर है।

Tags
Show More

Amit Jha

अमित झा पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे हैं और इससे पहले लेखक के तौर पर मीडिया दरबार में काम करते थे, अब स्पोर्ट्सऑवर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

If you like our content kindly support us by whitelisting us Adblocker.