क्रिकेटखेल समाचार

अगर एमएस धोनी नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते तो कई सारे रिकॉर्ड तोड़ते- गौतम गंभीर

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि अगर एमएस धोनी भारत के लिए कप्तानी नहीं करते और नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते रहते तो वह विश्व के बहुत रोमांचक खिलाड़ी होते और कई सारे रिकॉर्ड तोड़ते। धोनी ने अपने करियर के शुरुआती मैचों में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए कई शानदार पारियां खेली थी, जहां से प्रशंसकों को उनकी हिटिंग क्षमता के बारे में पता लगा था।

धोनी ने अपनी मेडन वनडे सेंचुरी पाकिस्तान के खिलाफ विशाखापनट्टनम में साल 2005 में लगाई थी, वहां उन्होंने 123 गेंदों में 148 रन की शानदार पारी खेली थी जिसमें 15 चौके और 4 छक्के शामिल थे। उसके बाद खिलाड़ी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और टीम में अपनी जगह कुछ इस प्रकार पक्की कर ली थी की, वह भारतीय बैटिंग-लाइनअप के महत्वपूर्ण बल्लेबाजों में से एक बन गए थे।

हालांकि, धोनी ज्यादा लंबे समय तक टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी नहीं कर पाए और जैसे ही उन्हें टीम की कप्तानी मिली तो उन्होंने एक फिनिशर के रूप में टीम के लिए खेलना शुरू किया। अपनी गणनात्मक रणनीतियों और निडरता के साथ, धोनी ने फिनिशर के रूप में भारत के लिए कई मैच जीते।

हालांकि, गौतम गंभीर का मानना है अगर धोनी के ऊपर कप्तानी का भार नहीं होता और वह नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते रहते तो वह बल्लेबाजी में कई रिकॉर्ड तोड़ते। 16 पारिया, जिसमें धोनी ने टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी की है उसमें उन्होंने 82 की औसत से 993 रन बनाए है।

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के क्रिकेट कनेक्टेड शो में कहा, “संभवत विश्व क्रिकेट में एक चीज छूट गई है,,,वो हैं भारत के लिए धोनी का नंबर तीन पर बल्लेबाजी नहीं करना। अगर वह नंबर तीन पर बल्लेबाजी करना जारी रखते, तो विश्व क्रिकेट को एक अलग खिलाड़ी देखने को मिल सकता था।”

Tags
Show More

ankur patwal

Sports Journalist

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

If you like our content kindly support us by whitelisting us Adblocker.